My Mother at Sixty Six Main Important Points

1 :-  It was a Friday morning.  The poetess was driving to the coaching airport. Her 66 year old mother was sitting beside her.

शुक्रवार की  प्रात: थी । कवयित्री कार में सवार हुई कोचीन के हवाई अड्डे को जा रही थी । उसकी 66 वर्षीय मां  उसके बगल में बैठी हुई थी ।

हिंदी में Summary पढ़ें:-

Read Summary in English

2 :- The  poetess turned to look  at her mother. She saw that the mother  looked as pale as death. A sad thought came into the poetess mind.

कवयित्री ने अपनी मां की तरफ देखने के लिए अपना   सिर घुमाया | उसने देखा कि उसकी मां मृत्यु के समान पीली लग रही थी |  कवयित्री के मन में एक उदासी भरा विचार आ गया |

3 :- But she soon drove this thought away and started looking at the trees that seemed to be running fast. She saw children running out of their home in Joy.

किंतु शीघ्र ही उसने  इस विचार को अपने मन से निकाल दिया तथा पेड़ों की तरफ  देखना शुरू कर दिया जो तेजी से भागते हुए हुए प्रतीत हो रहे थे  | उसमें बच्चों को खुशी में अपने घरों से बाहर भागते हुए देखा |

हिंदी में Summary पढ़ें:-

Read Summary in English

4:- After reaching the airport, the poetess went through the security  check;

Standing a few yards away , she again looked at her mother . The mother looked very pale and week;

हवाई अड्डे पर पहुंचने के बाद कवयित्री में सुरक्षा जांच करवाई |  कुछ दूर खड़े होकर उसने अपनी मां की तरफ देखा |  मां बहुत पीली और कमजोर लग रही थी |

5:- But the poetess said nothing but with this : ”Amma,See you soon.”

then she smiled and smiled and smiled.That was all she did.

किंतु कवयित्री ने इसके अतिरिक्त कुछ ना कहा — “मम्मी , शीघ्र ही तुमसे दोबारा मिलूंगी “  तब वह मुस्कुराती रही और मुस्कुराती ही रही | उसने केवल इतना ही कहा |

हिंदी में Summary पढ़ें:-

Read Summary in English



Leave a Reply

Close Menu